पाकिस्तान बल्लेबाज ने जड़ा 158 मीटर लम्बा छक्का, क्रिकेट जगत में मचाया तहलका

खेल समाचार

[ad_1]

पिछले कुछ सालों में टी20 क्रिकेट के आने के बाद से क्रिकेट में बल्लेबाज अक्सर बड़े हिट लगाने की कोशिश में रहते हैं और इन्हीं बिग हिट्स की वजह से कई बार बल्लेबाज के बैट से गेंद इतनी दूर निकल जाती है कि उसका अता-पता भी नहीं चलता. कारण साफ है कि बल्लेबाज बड़े हिटों के सहारे दर्शकों को अपना मुरीद बनाना चाहते हैं. लेकिन इस बीच सवाल उठता है कि क्रिकेट इतिहास में अब तक सबसे लंबा छक्का किस बल्लेबाज ने मारा होगा. तो आइए हम आपको बताते हैं आखिर किस बल्लेबाज के नाम है यह रिकॉर्ड.

पाकिस्तान बल्लेबाज ने जड़ा 157 मीटर लम्बा छक्का
सबसे लम्बे छक्के का रिकॉर्ड पाकिस्तान के पूर्व विस्फोटक ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी के नाम है. अफरीदी ने अपने पूरे करियर में कई खतरनाक और विस्फोटक पारियां खेलीं. उन्होने साल 2013 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 158 मीटर का लंबा छक्का लगाया था. जो कि वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

दो भारतीयों का भी नाम है शामिल
सबसे लंबा ‘छक्का’ मारने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में दो भारतीय भी शामिल हैं, जिसमें युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी का नाम है. युवराज सिंह 119 मीटर का सिक्स मार चुके हैं. युवी के नाम तो टी20 में 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाने का भी रिकॉर्ड शामिल है. वहीं एमएस धोनी 112 मीटर का सिक्स मार चुके हैं. साल 2007 में टी20 विश्व कप में भारत के युवराज सिंह ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई 70 रनों की पारी के दौरान ब्रेट ली की गेंद पर 119 मीटर लंबा छक्का जड़ा था. ये छक्का इसलिए भी गजब था क्योंकि इसके लिए उन्होंने सिर्फ अपनी कलाइयों का इस्तेमाल किया था.

Sr.No Player Team Distance(Meter) Year
1 Shahid Afridi Pakistan 158 2013
2 Bret Lee Australia 135 2005
3 Martin Guptill New Zealand 127 2012
4 Corey Anderson New Zealand 122 2014
5 Yuvraj Singh India 120 2007
6 Chris Gayle West Indies 116 2010
7 Ijaz Ahmed Pakistan 115 1999
8 MS Dhoni India 112 2012

एक रिकॉर्ड ऐसा भी
अल्बर्ट ट्रॉट 19वीं सदी के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में से एक रहे हैं. वो इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों देशों के लिए क्रिकेट खेले हैं. इतिहास का सबसे लंबा ‘छक्का’ अल्बर्ट के नाम हैं. वो 164 मीटर का सिक्स मारने का कारनामा कर चुके हैं. 19वीं सदी में अल्बर्ट ट्रॉट के नाम से गेंदबाज खौफ खाते थे. इतना ही नहीं वो गेंदबाजी में भी बल्लेबाजों के लिए खौफ साबित हुए हैं. बताया जाता है कि इस खिलाड़ी ने 1910 में 41 साल की उम्र में गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी.

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.